Web Hosting Kya Hai? | वेब होस्टिंग क्या है? – 2021

दोस्तों आज के इस ब्लॉग मे हम बात करने वाले है की वेब होस्टिंग क्या होता है? ( Web Hosting Kya Hai? ) जिससे की आपको इसके बारे मे सभी तरह के जानकारी हो जाए और अगर आप होस्टिंग खरीदना चाहते हो तो आप समझ सके की कौन सा होस्टिंग आपके लिए सही है और क्यों?

तो चलिए बिना समय गवाए जानते है की वेब होस्टिंग क्या होता है? ( What Is Web Hosting In Hindi? ) –

Web Hosting Kya Hai?

Web Hosting एक प्रकार का Storage है जिसमे की आप अपने Website के सभी File को वहाँ पर Store कर सकते है और जैसे ही लोग उसको Access करना चाहेंगे तो वो आसानी से उसको Access कर सके, जैसा की नाम से ही मालूम चल रहा है की Web का मतलब होता है Internet और Hosting का मतलब होता है Storage, तो Web Hosting का मतलब है की ऐसा Storage जो Internet मे उपलब्ध होता है।

इस तरह के Storage को कोई नहीं देख सकता है बस आप जब Web Hosting खरीदते है तब आपको एक Storage के Capacity देकर उसको आपके नाम या आपके वेबसाईट के नाम से Allocate कर दिया जाता है और आप जब तक उसको Rent देते रहेंगे तब तक आप उस Storage के मालिक है।

आप अपना वेबसाईट मे जितना Image, Videos, Text ये सब का उपयोग करते है तो वो सब के सब उसी Storage मे Save होता है और जैसे ही Internet पर आपका वेबसाईट रैंक करता है और लोग आपके वेबसाईट मे आना स्टार्ट करते है तो उस वक्त उनको आपका वेबसाईट मे जो जो कंटेन्ट दिखता है वो वहीं से Access हो रहा होता है।

आप इंटरनेट पर जितना भी वेबसाईट देख रहे है वो  सब के सब  Web Hosting मे ही Store हुए रखते है और जैसे ही लोग उनके वेबसाईट मे जाते है तो उस वक्त वो डाटा को Fetch Web Hosting से ही करता है और उसके बाद उनके सामने आपका वेबसाईट आता है जिसमे की Image, Videos और Text आता है।

इसका मतलब ये है की अगर आप अपना वेबसाईट बनाए है तो उसको कहीं पर बैठा हुआ आदमी उसको Access कर सकता है, जैसे की ये वेबसाईट पर मैंने India से लिखा हुआ है और अगर कोई America मे कोई आदमी बैठा हुआ है और वो इस आर्टिकल को पढ़ना चाहता है तो वो आसानी से सर्च कर सकता है और उसके बाद हमारा वेबसाईट को वहाँ से Access कर सकता है।

Web Hosting Ke Prakar ( वेब होस्टिंग के प्रकार ) – Types Of Web Hosting In Hindi

वेब होस्टिंग मुख्यतः चार प्रकार के होते है जो की निम्नलिखित है –

  • Shared Hosting
  • Dedicated Web Hosting
  • VPS Hosting
  • Cloud Web Hosting

Shared Hosting

Shared Hosting का मतलब होता है की वैसा होस्टिंग जिसका आपके साथ साथ और भी लोग उसका मालिक है और इसमे आपको कम पैसे लगते है क्योंकि एक चीज के चार मालिक रहेंगे तो जितना पैसा एक देगा उसी मे चार लोग देगा पैसा, इसलिए Shared वेब होस्टिंग सस्ता होता है।

जैसे की अगर आप शहर मे पढ़ते है और एक रूम लिए है जहां पर आप रहते है तो उस समय अगर आप अकेले रहेंगे तो आपको रूम का किराया तो उतना ही लगेगा लेकीन आपको सब के सब पैसा देना होगा लेकीन वही अगर उस रूम मे आपके चार दोस्त रहने लगे तो रूम के किराया के चार हिस्सा हो जाएगा, और इसी के कारण आपका पैसा कम लगने लगेगा।

जैसे की अगर आपका रूम रेंट का किराया 2000 रुपया है तो उस समय आपको 2000 का 4 हिसा लगेगा और आपको 500 रुपया ही देना होगा, तो बिल्कुल इसी प्रकार का Shared Hosting मे पैसे कम लगते है।

Share Hosting Kyon Badhia Hai?

अगर आप शुरुवाती ब्लॉगर है तो आप इसका उपयोग कर सकते है जिसमे की शुरू शुरू मे ज्यादा ट्राफिक नहीं आता है तो उसके कारण आपका ब्लॉग मे जितना ट्राफिक आएगा थोड़ा बहुत उसको ये आसानी से झेल सकता है, और अगर आप नया बिजनस स्टार्ट कीये है जिसमे की कम Visitors आने के चांस है तो आप इसका उपयोग कर सकते है।

और सबसे बड़ी बात ये है की शुरुवाती ब्लॉगर या बिजनस वाले लोग पैसा Invest करने मे ज्यादा Interested नहीं होते है या नहीं चाहते है तो उनके लिए सबसे बढ़िया तरीका यही है की आप Shared Web Hosting मे अपना वेबसाईट को रखे। या फिर अगर आप WordPress के बारे मे ज्यादा जानना चाहते है तो उसके लिए आप इसका उपयोग कर सकते है जिसमे की कम पैसा लगेगा और आपका काम हो जाएगा।

Dedicated Hosting

Dedicated Hosting मे एक होस्टिंग के सिर्फ और सिर्फ आप ही मालिक रहेंगे जिससे की आपका उसका रेंट ज्यादा हो जाएगा जिसको कह सकते है की वो महंगा हो जाता है, और अगर आपका कोई ऐसा साइट है जिसमे की लाखों का ट्राफिक आता है तो आपको इसी के ऊपर शिफ्ट हो जाना चाहिए, जिससे की ये आसानी से आपका सारा ट्राफिक को झेल ले और आपका काम चलता रहे।

जैसे की अगर आप एक कार को भाड़ा पर लेते है और उसको सिर्फ आप ही उपयोग मे लेंगे तो उस समय आपका पैसा ज्यादा लगेगा तो ये बिल्कुल उसी तरह से काम करेगा की आप इसका उपयोग करते है तो ये थोड़ा बहुत महंगा पड़ेगा और आपको इसमे तब शिफ्ट करना है जब आपको हर दिन ज्यादा से ज्यादा ट्राफिक आ रहा है और आपका पुराना वाला Hosting उसको झेल नहीं पा रहा है तब।

Dedicated Hosting Kyon Badhia Hai?

इसमे आपका ज्यादा ट्राफिक आने का कारण ज्यादा उपयोग होता है क्योंकि अगर आपका Hosting सही से काम नहीं करेगा तो आपका Traffic आपके वेबसाईट तक नहीं आ पाएगा जिससे की आपका ट्राफिक बिखर जाएगा और कहीं न कहीं उनके दिमाग मे आपके वेबसाईट के लिए Negative Thought चल जाएगा जिससे की आपका वेबसाईट रैंक नहीं करेगा। इसलिए आपको इसमे शिफ्ट करना चाहिए।

VPS ( Virtual Private Server ) Hosting

अगर आप इसको Dedicated Hosting और Shared Hosting के Combination कहते है तो वो गलत नहीं होगा क्योंकि इसमे आपको Dedicated Server ही होता है लेकीन इसमे आपको Virtual Server मिलता है न की Physical Server। मतलब की इसमे Server को कई Virtual Server के  हिस्सों मे बाँट दिया जाता है।

और हरेक वेबसाईट के लिए एक एक Virtual Sever दिया जाता है और उस सर्वर मे सिर्फ इसी का अधिकार होता है जिसके कारण सिर्फ एक आदमी ही इसका हकदार होता है।

VPS Hosting मे शेयर होस्टिंग के Compare मे हरेक वेबसाईट के अधिक Storage, Bandwidth और Computing Power दिया जाता है इसलिए इसमे Shared Hosting के वेबसाईट के लोडिंग स्पीड से थोड़ा कम लोडिंग टाइम लगता है और इससे की रैंकिंग मे बहुत ज्यादा फायदा होता है ।

VPS Hosting Kyon Badhia Hai?

इसमे सबसी बात ये है की Shared Hosting वाले लोग भी अगर चाहते है तो इसका उपयोग कर सकते है मतलब की अगर आपके वेबसाईट मे भी कम ट्राफिक आ रहा है और आपको लग रहा है की आपका वेबसाईट का लोडिंग समय ज्यादा है तो उस समय आप इस होस्टिंग का उपयोग कर सकते है।

Cloud Hosting

Cloud Hosting एक प्रकार का बहुत ही शक्तिशाली सर्वर या होस्टिंग है जिसमे की आप अपना वेबसाईट को होस्ट कर सकते है जिसमे की आपका वेबसाईट को बहुत सारे सर्वर मिलके होस्ट करते है और इससे आपका वेबसाईट को फायदा ये होता है की इसमे आपको कितना भी ट्राफिक आता है उससे कोई फरक नहीं पड़ता है।

मतलब की अगर आपका वेबसाईट मे बहुत ही ट्राफिक आता है और आपको लगता है की कोई ऐसा सर्वर या होस्टिंग आप उपयोग कर रहे है जिसमे की अगर ट्राफिक आ रहा है तो आपका वेबसाईट का लोडिंग स्पीड ज्यादा बढ़ जा रहा है तो उस समय आपको इस होस्टिंग मे चले जाना चाहिए।

Cloud Web Hosting Kyon Badhia Hai?

अगर आपका वेबसाईट मे ज्यादा ट्राफिक आता है और आपका लोडिंग स्पीड बढ़ जाता है तो आपको इसमे वैसा कुछ देखने को नहीं मिलेगा और अगर आप चाहते है की आपका सर्वर मे थोड़ा और RAM होता या Storage होता तो आप इसको आसानी से बढ़ा सकते है जिससे की आपका Storage और Speed को लेकर किसी तरह के कोई Tension नहीं रहे।

Hosting Me Kya Kya Features Hote Hai?

अगर आपको होस्टिंग के फीचर के बारे मे बताए तो ऐसे बहुत सारे फीचर है जिनको आपको ध्यान मे रख के वेबसाईट के लिए एक अच्छा होस्टिंग खरीदना चाहिए जैसे की निम्नलिखित है –

  • Storage
  • Bandwidth
  • SSL
  • Uptime
  • Email
  • Backup
  • Customer Support 

Storage

स्टॉरिज का मतलब होता है की आप कितने साइज़ का वेबसाईट अपलोड या Store कर सकते है इसमे तो अगर आपको ज्यादा Storage का वेबसाईट होस्ट करना है तो उसके लिए आप ज्यादा Storage का होस्टिंग खरीदे।

Bandwidth

Bandwidth आपके यूजर और आपकी वेबसाईट के बीच मे ट्रैन्स्फर होने वाले डाटा का मात्रा बताता है अगर Bandwidth का साइज़ ज्यादा  होता है तो  आपका वेबसाईट को अगर ज्यादा लोग एक्सेस कर रहे है तो उस समय आपके वेबसाईट मे उनको आने मे ज्यादा दिक्कत न आए और वो आपको साइट को जल्दी से जल्दी Access कर सके।

और अगर वहीं आपका Bandwidth का Size कम होता है तो उस समय आपका साइट का लोडिंग समय ज्यादा हो जाएगा जिससे की आपका साइट तक लोग नहीं आ पाएंगे। इसलिए आपको ज्यादा Bandwidth वाले होस्टिंग को ही खरीदना है।

SSL

इसका मतलब ये है की सर्च इंजन आजकल ऐसे ही वेबसाईट को ज्यादा प्रीफर कर रहे है जिसमे की SSL ( Secure Socket Layer ) मौजूद हो और इससे फायदा ये है की आपके साइट पर कोई अटैक करता है तो वो आपके साइट को कोई नुकसान नहीं पहुचा पाता है।

Uptime

इसका मतलब ये है की आपका साइट कितना Percent तक लाइव रह सकता है, जैसे की अगर आपका साइट लोड नहीं होता है तो उस समय होस्टिंग मे कोई टेक्निकल इशू आया रहता है जिसके कारण आपका साइट लोड नहीं हो पाता है या लाइव नहीं रह पाता है, तो अगर आप होस्टिंग लेने जा रहे हो तो ऐसे होस्टिंग को चुने जिसमे 99.99% Uptime रहे।

Business Email

इसका मतलब ये है की बहुत सारे होस्टिंग आपको एक सर्विस प्रवाइड करते है जिससे की आप अपना डोमेन के साथ एक professional जिसको Business Email कहते है वो आप आसानी से बना सके, जो की बहुत सारे ऐसे वेबसाईट है जो की इसको प्रवाइड करने के अलग से चार्ज करते है।

तो ऐसे मे आपको ऐसे होस्टिंग को सिलेक्ट करना है जिसमे की आपको 1 2 Business Email बनाने का ऑप्शन रहे जिससे की आप आसानी से बना सके।

Backup

हर चीज के लिए Backup बहुत ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि अगर आप किसी तरह के फाइल मे कोई गड़बड़ कर रखे हो तो उस समय आपको वो बैकअप ही है जो की आपको मदद करेगा आपका वेबसाईट को फीर से लाइव करने मे, तो इसलिए ऐसे होस्टिंग को सिलेक्ट करे जिसमे की आपका Auto Backup का Option रहे।

Customer Support 

हर कंपनी मे सबसे पहले यही देखा जाता है की उसका Customer Support कैसे है जिससे की आपको अगर किसी चीज मे गड़बड़ी हो तो वो सही कर सके, इसलिए आपको इसको देख के ही होस्टिंग खरीदना चाहिए।

Web Hosting Aur Domain Me Kya Antar Hai? – Domain VS Web Hosting In Hindi

  • वेब होस्टिंग एक प्रकार का Storage होता है जो की क्लाउड मे रहता है लेकीन डोमेन एक प्रकार का यूनीक Address होता है जिसके द्वारा आपके वेबसाईट पर लोग या पाते है।
  • वेब होस्टिंग को अगर आप चाहो तो 1 2 या 3 महीने के लिए भी ले सकते है लेकीन डोमेन आपको 1 साल के लिए लेना ही पड़ेगा।
  • वेब होस्टिंग मे ज्यादा पैसा लगता है लेकीन डोमेन मे आपको कम पैसे लगते है।
  • वेब होस्टिंग मे बहुत सारे झंझट होते है जैसे की चलते चलते आपका साइट का रुक जाना, लोडिंग स्पीड ज्यादा होना इत्यादि लेकीन डोमेन मे ऐसा कुछ प्रॉब्लेम नहीं है।

Linux Vs Windows Web Hosting In Hindi

जब आप अपने वेबसाईट के लिए होस्टिंग खरीदने जाएंगे तो उस समय आपके पास दो ऑप्शन रहता है – पहला Linux और दूसरा Windows, अगर आप Windows का होस्टिंग लेने जाएंगे तो वो थोड़ा महंगा होता है क्योंकि होस्टिंग कंपनी को इसके लिए उनको ज्यादा पैसा देना पड़ता है।

लेकीन अगर आप Linux का होस्टिंग लेने जाएंगे तो इसमे आपको कम पैसे लगेंगे क्योंकि लिनक्स Open Source Software है जिसके लिए होस्टिंग कंपनी को पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ती है इसलिए लिनक्स होस्टिंग थोड़ा सस्ता होता है।

Hosting Me Bandwidth Kya Hota Hai?

आपके वेबसाईट के सर्वर और आपके यूजर के बीच डाटा ट्रैन्स्फर की मात्रा को बैन्ड्विड्थ कहते है, अगर आप ऐसा होस्टिंग लिए है जिसमे की Unlimited बैन्ड्विड्थ है तो उसमे आपका साइट का लोडिंग स्पीड कम रहेगा क्योंकि वो आसानी से जल्दी से जल्दी डाटा को एक्सेस कर सकते है। और अगर आपका होस्टिंग मे बैन्ड्विड्थ कम है तो उस समय आपका वेबसाईट का लोडिंग स्पीड बढ़ने वाला है।

जैसे की अगर आपके घर का दरवाजा छोटा है तो ऐसे मे अगर आपका घर मे 50 लोग आ रहे है तो आपके घर मे आने मे कुछ समय लगेगा लेकीन वही अगर आपका घर का दरवाजा बड़ा है तो आपके घर मे 50 लोग एकदम तुरंत से आ जाएंगे तो इस उदाहरण मे दरवाजा को बैन्ड्विड्थ कह सकते है।

Server Uptime Kya Hota Hai?

सर्वर का अप रहने का सिधा तात्पर्य उस होस्टिंग के लाइव रहने से है, ऐसा बहुत बार होता है की मशीन जब काफी समय तक चलते रहते है तो कुछ दिन के बाद उसको फिर से बंद करके चालू करना पड़ता है ताकि सही से और Proper तरीके से काम कर सके, तो ऐसे मे जो बंद और चालू करने के समय मे आपका साइट तो लाइव नहीं रहेगा।

तो इसी प्रोसेस को uptime कहते है और इसको ज्यादा ध्यान देना चाहिए अगर आप कोई होस्टिंग लेने जा रहे हो, कभी कभी किसी तरह के प्रॉब्लेम भी आता है होस्टिंग मे तो उस समय जितना बढ़िया होस्टिंग रहेगा उतना ही बढ़िया उसका सर्विस रहेगा और वो जल्दी से सर्वर का काम ठीक कर देंगे और आपका साइट लाइव हो जाएगा।

Website Ke Liye Kaun Sa Web Hosting Kharide?

अब ये आप पर निर्भर करता है की आप कौन सा होस्टिंग खरीदे क्योंकि ये आप पर है की आपका साइट कैसा Performance दे रहा है और अभी जो होस्टिंग है उसमे क्या दिक्कत आ रही है, जैसे की अगर आपका ट्राफिक हो नहीं संभाल रहा है और आपका साइट मे थोड़ा बहुत traffic आ रहा है तो आप Dedicated Hosting पर चले जाइए।

अगर आपको लगता है की आपको ढेर सारा ट्राफिक आ रहा है और आपका साइट अब ये  होस्टिंग नहीं सह पाएगा तो उस समय आप VPS होस्टिंग की ओर चले जाइए, और नहीं तो फिर Cloud Web Hosting की ओर चेल जाइए। तो ये पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है की आप पहले वाला होस्टिंग को क्यों छोड़ना चाहते है।

Also Read

 

Conclusions of Web Hosting Kya Hai?

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको आज का ब्लॉग पसंद आया होगा जो की वेब होस्टिंग क्या है? ( Web Hosting Kya Hai? ) से रिलेटेड है और अगर आपको इससे रिलेटेड किसी तरह के मन मे डाउट हो तो नीचे कमेन्ट जरूर करे जिससे की आपका सवाल का जवाब जल्दी से आपको मिल जाए।

One thought on “Web Hosting Kya Hai? | वेब होस्टिंग क्या है? – 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *