वर्डप्रेस क्या है? | What Is WordPress In Hindi 2021

WordPress In Hindi – दोस्तों आज के इस ब्लॉग मे हम बात करने वाले है की वर्डप्रेस क्या होता है? ( WordPress Kya Hota Hai? ) और उससे रिलेटेड सभी तरह के टॉपिक को कवर करेंगे जिससे की आपको इसके बारे मे सही सही जानकारी हो सके और आप अपना ज्ञान को और लोगो के साथ शेयर कर सके।

आज के समय मे अगर आप भी अनलाइन पैसा कमाना चाहते है तो आप इस बात से अनजान नहीं होंगे की अभी के समय मे सिर्फ लोग ब्लॉगिंग और यूट्यूब पर काम करने को सोच रहे है जहां से वो घर पर बैठे बैठे काम करके पैसा कमा सके, और उसी मे एक टर्म आता है वर्डप्रेस, और इसी के बारे मे अब चालिये हम जानते है –

वर्डप्रेस क्या होता है? ( What Is WordPress Kya Hota Hai? )

WordPress एक प्रकार का सिस्टम है जो की Content Management System ( CMS) के बैसिस पर काम करता है और ये php और Mysql जैसे कोडिंग पर बनाया जाता है, जिसमे आप किसी भी तरह के वेबसाईट को बना सकते है, और आप जितना भी बिजनस से रिलेटेड या सर्विसेज़ से रिलेटेड वेबसाईट देखते होंगे लगभग सब इसी के द्वारा बना हुआ होता है।

वर्डप्रेस एक प्रकार का प्लेटफॉर्म है जहां पर आप अपना किसी भी तरह का वेबसाईट बना सकते है जैसे की अगर आप अपना शॉप वाला वेबसाईट बनाना चाहते है तो वो भी आसानी से बना सकते है फिर कोई बिजनस से रिलेटेड वेबसाईट बनाना चाहते है तो वो भी आसानी से बना सकते है। और अगर आप अनलाइन पैसा कमान चाहते है तो उसके लिए आपको ब्लॉग वेबसाईट की जरूरत होगा तो वहाँ से आप ब्लॉग वेबसाईट भी बना सकते है और उसको रैंक कर सकते है।

WordPress के मदद से आप किसी कोडिंग के जानकारी के बिना आराम से वेबसाईट बना सकते है और उसको रैंक कर सकते है, इसमे आपको हर चीज मिलता है और आप जिस फीचर का उपयोग करना चाहते है उसके लिए आपको अलग से Plugin आता है उसके मदद से आप इसका उपयोग कर सकते है।

Plugin के जरिए आप किसी भी वेबसाईट मे किसी भी फीचर का उपयोग कर सकते है, जैसे की अगर आप ऊपर मे टेबल ऑफ कंटेन्ट ( Table Of Content ) देख रहे है तो वो भी Plugin के मदद से चल रहा है और जब भी मैं अपना नया पोस्ट लिखूँगा उस समय वो हर एक पोस्ट मे अपना टेबल ऑफ कंटेन्ट को ऐड कर देगा।

वॉर्डप्रेस कैसे काम करता है? ( WordPress Kaise Kaam Karta Hai? )

WordPress का उपयोग करने के लिए आपको सबसे पहले होस्टिंग के जरूरत होता है और होस्टिंग मे ही आपको वर्डप्रेस को स्टोर करना होता है और उसके बाद आप अपना वर्डप्रेस पर जैसा वेबसाईट को देखाना है वैसा डिजाइन कर लीजिए और वो आपका सर्वर पर स्टोर होते जाएगा।

जैसे ही किसी भी जगह से लोग आपके वेबसाईट पर जाएंगे तो वहाँ पर आपका वेबसाईट खुल जाएगा और स्टोर किया गया फाइल धीरे धीरे लोग एक्सेस करते रहेंगे, मतलब की वर्डप्रेस का काम ही है आपका वेबसाईट को तैयार करना और ये तभी काम करेगा जब आपके पास होस्टिंग रहेगा।

WordPress.com Vs WordPress.org ( दोनों मे अंतर )

WordPress.Org

अगर आप होस्टिंग खरीदकर उसमे WordPress का उपयोग करते है तो उसमे आपको WordPress.Org काम मे आता है जिसको काम करने के लिए एक होस्टिंग की जरूरत होती है और उसके साथ साथ एक डोमेन की भी जरूरत होती है जिसके बाद ही आप इसका उपयोग कर सकते है।

इसमे आपको Plugin और Theme का भरमार है और आप जो भी थीम का उपयोग करना चाहो उसको कर सकते है क्योंकि इस वेबसाईट का मालिक आप होते हो और इसमे जैसा आप चाहो वैसा कस्टमाइज़ कर सकते हो, क्योंकि इसका होस्टिंग आपके ही पास होता है और ये एक Open Source Content Management वाला सॉफ्टवेयर है।

WordPress.Com

ये एक प्रकार का होस्टिंग प्रवाइडर जैसा काम करता है जिसमे आपको होस्टिंग खरीदकर उसी मे आपको वॉर्डप्रेस का उपयोग करना होता है, मतलब की इसमे आपको अलग से होस्टिंग लेने की जरूरत नहीं है, बस आपको इसी को पैसा दे देना है और आपको आपका होस्टिंग मिल जाएगा उसके बाद आप अपना डोमेन से इसको कनेक्ट कर सकते है।

अगर आप अभी शुरुवाती ब्लॉगर है और आप WordPress के बारे मे जानना चाहते है तो उसके लिए आपको इसमे कुछ लिमिटैशन के साथ आपको अकाउंट बना सकते है जिसके लिए आपको एक भी रुपया देने की जरूरत नहीं है और आप उसका उपयोग कर सकते है लेकीन इसमे आपको लिमिटैशन के साथ साथ आपके वेबसाईट मे इनका खुद का Ads भी दिखता रहेगा।

तो आप इसका उपयोग कर सकते है और नहीं तो फिर आप खुद का होस्टिंग लेकर आप उसमे WordPress.Org का मज़ा ले सकते है और वहाँ पर किसी तरह के कोई लिमिटैशन की भी जरूरत नहीं है, बस आपको उसका उपयोग करना आना चाहिए।

WordPress Ke Features ( वर्डप्रेस के विशेषता )

अगर आप WordPress का उपयोग करते है तो आपको निम्नलिखित फायदे मिलते है इसमे जिसके द्वारा आप अपना वेबसाईट को और भी जल्दी रैंक कर सकते है –

Plugin

प्लगइन एक प्रोग्राम होता है जिसके मदद से आप अपने वेबसाईट मे जो फीचर चाहते है उसका उपयोग कर सकते है, जैसे की अगर आप अपना वेबसाईट मे टेबल ऑफ कंटेन्ट का उपयोग करना चाहते है तो वो आप प्लगइन के मदद से आप कर सकते है और उसमे किसी तरह के कोई दिक्कत नहीं होता है।

और आप जितना भी पोस्ट डाल रहे है उसमे वो ऑटोमैटिक लग जाता है उसके लिए आपको किसी सेटिंग मे जाकर हर बार ऐड करने के जरूरत नहीं है आप एक बार Set कर दिए तो उसके बाद आपको उसमे किसी तरह के कोई चेंज करने की जरूरत नहीं है। तो ये फायदा आपको सिर्फ इसी मे मिलता है।

Theme

अगर आप ब्लॉगर ये सब पर वेबसाईट बनाते होंगे तो आपको मालूम होगा की उसमे आपको थीम का उतना ऑप्शन नही मिलता है, आपको बस कुछ थीम मिलता है जिसमे आपका वेबसाईट सही से डिजाइन नहीं होगा, लेकीन अगर वही आप वर्डप्रेस का उपयोग करते है तो इसमे आपको लाखों थीम मिल जाता है जो की आप बिना खरीदे उपयोग कर सकते है।

और अगर आप किसी थीम को खरीदना चाहते है तो वो भी आप कर सकते है और आप उसको जितना चाहो उतना वेबसाईट मे लगा सकते है लेकीन ऐसा नहीं है की आप अगर बिना खरीदे थीम का उपयोग करेंगे तो उसमे किसी तरह के कोई दिक्कत आएगा, आप उसको भी आसानी से उपयोग कर सकते है।

Search Engine Optimization

इसका मतलब ये है की अगर आप अपना वेबसाईट पर ट्राफिक चाहते है तो उसके लिए आपको अपना वेबसाईट को रैंक करना पड़ेगा और रैंक करने के लिए आपको अपना वेबसाईट का सही से SEO करना बहुत जरूरी है और इसमे आपको वर्डप्रेस बहुत ज्यादा सहायता देता है क्योंकि इसमे आपको प्लगइन के मदद से आप सब कर सकते है।

जैसे की अगर WordPress मे SEO के लिए सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला प्लगइन Yoast SEO और RankMath SEO है जिसमे आप अपना वेबसाईट को सही से SEO कर सकते है।

User Management

इसका मतलब है की आप देखे होंगे की बड़े बड़े कंपनी मे टीम मे काम होता है तो अगर आप WordPress का इस्तेमाल करेंगे तो इसमे आप आसानी से लोगो को मैनिज्मन्ट प्रवाइड कर सकते है जिससे की आप आसानी से अपना टीम मे काम कर सकते है, जो की आपको इसमे ही सिर्फ फीचर आता है।

अगर आपके पास मोनू, प्रकाश, रौशन नाम के 3 बंदे है और अगर आप सोच रहे है की अगर मोनू आपका कंटेन्ट का देख रेख करे या वो कंटेन्ट पोस्ट करे तो आप उसका Management Provide कर सकते है जिससे की वो सिर्फ वही काम करेगा, और अगर प्रकाश  SEO के काम करते है तो उनको Management दे सकते है और उनको पासवर्ड असाइन कर सकते है। वैसे ही आप रौशन के भी कर सकते है।

Image Edition Feature

जैसा की हम सब जानते है की हमारे वेबसाईट मे ढेर सारा इमेज का उपयोग होता है और ऐसे मे अगर आप अपना इमेज को क्रॉप या एडिट करना चाहते है तो उसके लिए आप सॉफ्टवेयर से करने जाएंगे तो उसमे समय लग जाएगा लेकीन वही अगर आप उसको WordPress मे उपयोग करेंगे तो आसानी से वही एडिट कर सकते है।

ये फीचर सिर्फ इसी मे मिलता है क्योंकि ब्लॉगर ये सब मे सिर्फ अपलोड करने का फीचर रहता है न की एडिट करने का, तो इस फीचर के लिए आप भी WordPress का उपयोग कर सकते है।

Language

अगर आपको English नहीं आता है तो भी आप इसमे काम कर सकते है क्योंकि ये 70 से ज्यादा Language Provide करता है जिसके मदद से आप अपना जो भी भाषा जानते है उसमे इसको कन्वर्ट कर सकते है और उपयोग कर सकते है उसमे किसी तरह के कोई दिक्कत नहीं आएगा। ये फीचर सिर्फ इसी मे मिलता है।

Community

इसमे आपको अगर किसी तरह के कोई दिक्कत आता है तो आपको कम्यूनिटी के मदद से आपका सवाल का जवाब जल्दी से मिल जाएगा और आप उसका उपयोग कर सकते है जो की अलग किसी भी प्लेटफॉर्म मे नहीं है, इसलिए अगर आप चाहते है की अगर आपको किसी तरह के कोई डाउट हो तो आपको कोई मदद करे तो आप इसका उपयोग कर सकते है।

वॉर्डप्रेस के फायदे ( Benefits Or Advantages Of WordPress )

  • इसमे आप किसी भी तरह का वेबसाईट का बना सकते है।
  • इसमे आपको हजारों के संख्या मे थीम मौजूद है जिसके मदद से आप अपना वेबसाईट का अच्छा लुक दे सकते है।
  • इसमे अगर आपको अलग फीचर चाहिए तो उसके लिए Plugin पहले से ही मौजूद रहता है।
  • WordPress मे SEO का Plugin के उपयोग कर सकते है जिससे की आप इसको आसानी से SEO friendly बना सकते है और ये जल्दी से रैंक कर सकता है अगर आप सही से काम करे।
  • अगर आप अपना एक बिजनस खोलना चाहते है तो उसके लिए भी आप इसमे वेबसाईट बना सकते है और उसके साथ साथ आप इसमे E-Commerce वेबसाईट भी बना सकते है।
  • आप अपना खुद का वेबसाईट बना सकते है वो भी बिना किसी कोडिंग के जानकारी के।

वर्डप्रेस के नुकसान ( Disadvantages Of WordPress )

  • सबसे पहले ये है की अगर आप अपना वर्डप्रेस का उपयोग करना चाहते है तो उसके लिए आपको होस्टिंग खरीदना पड़ेगा और उसके लिए आपको खर्च देने होंगे जो की हर महीने के हिसाब से आता है जिसको आपको हर साल के लिए खरीदना होता है।
  • अगर आपका होस्टिंग सही नहीं रहेगा तो आपका वेबसाईट का स्पीड कम हो जाएगा और सही से और जल्दी नहीं खुलेगा।
  • अगर आप ज्यादा Plugin का उपयोग करेंगे तो आपाक साइट स्लो हो जाएगा जो की नॉर्मल है इसलिए अगर आप वर्डप्रेस का उपयोग कर रहे है या करेंगे तो उसमे आप प्लगइन का उपयोग थोड़ा कम करने के प्रयास करे।

Also Read

What Is SEO In Hindi?

Web Hosting Kya Hai?

WordPress Blog Post Me Table of Contents Kaise Add Kare?

Conclusions Of WordPress

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको आज का ब्लॉग पसंद आया होगा जो की वर्डप्रेस क्या होता है? ( What Is WordPress Kya Hota Hai? ) से रिलेटेड है और अगर इससे रिलेटेड किसी तरह के मन मे डाउट हो तो नीचे कमेन्ट जरूर करे जिससे की आपका सवाल का जवाब जल्दी से मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *