Blogging Kya Hai? Blogging Kaise Kare? – 2021

दोस्तों आज के इस ब्लॉग मे हम बात करने वाले है की Blogging Kya Hai? या Blogging Kya Hoti Hai? जिससे की आप अपना ब्लॉगिंग का सफर शुरू कर सके और आप ब्लॉगिंग से पैसा कमा सके तो चलिए इसके बारे मे डीटेल मे जानते है –

Blogging Kya Hai?

ब्लॉगिंग का मतलब होता है की आप किसी तरह के ज्ञान को टेक्स्ट के फोरम मे किसी के साथ शेयर करना होता है, मतलब की जैसे की आप यूट्यूब देखते है तो यूट्यूब मे विडिओ के फोरम मे ज्ञान को शेयर किया जाता है लेकिन ब्लॉगिंग मे टेक्स्ट के फोरम मे ज्ञान को शेयर करना होता है।

Blogging को करने का सबसे बड़ा कारण ये है की आप इसमे Text मे अपना Knowledge को Share कर रहे है जिससे की सामने वाले को आपके बारे मे किसी तरह के कोई जानकारी नहीं है, बस वो सिर्फ आपके Content को ध्यान मे रखे हुए है और वो आपका Blog को पढे जा रहा है।

लेकीन वही अगर यूट्यूब मे देखा जाए तो लोग आपके Video मे आपके Knowledge के साथ साथ आपका Background और Sound Quality को ज्यादा मायने रखते है, तो अगर आप Blogging को समझना चाहते है तो बस ये समझ लीजिए की आप एक Book लिखोगे जो की Online लोगों को पढ़ना होता है।

ब्लॉगिंग अभी के समय मे सबसे ज्यादा ट्रेंड मे है क्योंकि सभी लोग घर बैठे काम करके पैसा कमाना चाहते है तो वैसे मे ब्लॉगिंग एक सही तरीका और सैफ तरीका है जिससे वो लोग जो की अनलाइन पैसा कमाना चाहते है वो आसानी से ब्लॉगिंग कर सकते है।

ब्लॉगिंग शुरू करने से पहले आपको अपने अंदर एक केटेगरी के ज्ञान को खोजना होता है जिससे की आप अपना ब्लॉग वेबसाईट पर सही से और Regular होकर अपना Blog Publish करते रहे और आपके Blog मे Traffic आता रहे, जिससे की आपको कमाई हो सके।

Blogging Kitne Prakar Ke Hote Hai?

ब्लॉगिंग दो प्रकार के होते है –

Event Blogging

ऐसे ब्लॉगिंग जो किसी खास त्योहार या फिर किसी तरह के फंगक्शन के लिए चलाया जाता है उसको Event Blogging कहते है, इस ब्लॉगिंग मे कंटेन्ट कम डालना होता है और जैसा की इसमे समय कम होता है इसलिए इसका शेरिंग पर ज्यादा ध्यान देना होता है जिससे की ट्राफिक आ सके।

अगर आप ईवेंट ब्लॉगिंग करते है तो इसमे आप कम समय मे ज्यादा से ज्यादा पैसा कमा सकते है, और अगर ये सही से काम नहीं करता है तो इसमे Invest किया गया पैसा डूब जाता है, इसको बनाने के लिए सबसे ज्यादा दिमाग के जरूरत होती है क्योंकि ये Coding के द्वारा बनता है।

और सबसे बड़ी बात की अगर आप ट्राफिक लाना चाहते है तो आपके पास लोगों का ग्रुप होना चाहिए जहां पर आप लिंक डालो और लोग शेयर करना शुरू कर दे जिससे की आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा ट्राफिक आए और आपका कमाई ज्यादा से ज्याडा हो।

Permanent Blogging

ऐसे ब्लॉगिंग जो की ज्ञान को शेयर करते है और जो ब्लॉगर अपना करिअर ब्लॉगिंग के फील्ड मे बनाना चाहते है तो वो Permanent Blogging ही कहलाते है, और चूंकि ये ब्लॉग के वेबसाईट है तो इसमे आपको मेहनत बहुत करना होगा, हर रोज नहीं तो एक समय के बाद आपको इसमे ब्लॉग लिखना होगा।

और इसमे आपको ज्यादा से ज्यादा इंतेजार करना होगा जिससे की आपका कमाई सही से और ज्यादा हो सके, क्योंकि ये सबसे ज्यादा जरूरी है की अगर हम कहीं कुछ इन्वेस्ट किये है तो वहाँ से कुछ पैसा कमाया जाए उसके बाद ही कुछ हो पाएगा, और अगर आप ऐसे वेबसाईट बनाते है तो इसमे आपको जिंदगी भर के लिए कमाई आते रहेगा।

और इसी तरह के ब्लॉगिंग का अभी के समय मे सबसे ज्यादा उपयोग होता है जिससे की वो आसानी से पैसा कमा सके और इसमे किसी तरह के कोई दिक्कत वाली बात नहीं होती है।

Blogging Kaise Karte Hai?

Blogging शुरू करने के लिए आपके पास अभी के समय मे सबसे ज्यादा पोपुलर मेथड दो है – Blogger और दूसरा WordPress. जिसके साथ आप आसानी से ब्लॉग वेबसाईट बना सकते है वो भी मिनटों मे, और Blogging को शुरू करने के लिए आपके पास Domain और Hosting होना जरूरी है।

अगर आप बिना पैसे खर्च कीये ब्लॉग बनाना चाहते है तो आप आसानी से Blogger बना सकते है जो की आपको 1 मिनट मे बन जाएगा बस इसमे आपको एक Gmail Account की जरूरत होगी और उसके बाद आप एक मिनट मे ब्लॉग बना सकते है।

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको निम्नलिखित बातों को ध्यान मे रखना होगा जिसके बाद आप ब्लॉगिंग सही से शुरू कर सकते है और अगर आप इसके बारे मे नहीं जानेंगे तो कभी Blogging मे सक्सेस नहीं होंगे। –

Niche Selection

इसका मतलब ये है की आपको किस Category मे ज्यादा ज्ञान है जिसमे की आप हर रोज एक ब्लॉग लिख कर Post करे क्योंकि ब्लॉगिंग को शुरू करने के लिए और इसमे Success पाने के लिए आपके पास किसी एक चीज मे पूरा सही से ज्ञान होना जरूरी है क्योंकि इसमे आपको हज़ारो की संख्या मे पोस्ट लिखना होगा।

और अगर आप किसी Category मे Blog शूरु करते है और 10 20 आर्टिकल लिखने के बाद आपको उसके बारे मे ज्यादा जानकारी नहीं होगा तो आप उस समय उस वेबसाईट पर काम करना बंद कर दोगे और ऐसे मे आपका काम नहीं चलने वाला है तो इसीलिए पहले आपको अपना ब्लॉग को Niche Define कर लीजिए।

अगर आप कंप्युटर के बारे मे जानकारी रखते है तो उसके बारे मे आप ज्ञान को शेयर करने के लिए एक वेबसाईट बना लीजिये और ज्ञान को शेयर करना शुरू कर दीजिए या फिर अगर आप मेडिकल लाइन मे ज्यादा जानकारी है तो उससे रिलेटेड आप ज्ञान को शे करना शुरू कर दीजिए।

Domain Selection

इसका मतलब ये है की Niche Selection के बाद आपको इसके बारे मे ज्यादा जानकारी होना चाहिए की आप ऐसा डोमेन खरीदे जिसको अगर कोई एक बार पढे तो उसका वो लाइफटाइम के लिए दिमाग मे बैठ जाए और आपका वेबसाईट का वो नाम लेते रहे या फिर उसको हमेशा याद रहे।

तो अगर आप डोमेन खरीदने जा रहे हो तो आप इस बात का ख्याल रखे की आपका डोमेन 2 Word का होना चाहिए और उपर से ऐसा नाम रखे जो की लोग एक बार पढ़ते ही याद हो जाए और अपना केटेगरी से रिलेटेड अगर आप रखना चाहे तो उससे रिलेटेड आप डोमेन को खरीद सकते है।

Hosting Selection

अगर आप Blogger से शुरू कर रहे है तब तो आपको एक भी रुपया नहीं लगेगा Hosting मे लेकिन अगर आप WordPress पर काम करना चाहते है तो आपको Hosting खरीदना पड़ेगा और ऐसे होस्टिंग खरीदे जिसमे की आपका Website का Loading Speed सही रहे।

मतलब की अगर किसी का इंटरनेट एकदम Slow काम कर रहा है तो भी वो आपका वेबसाईट को थोड़ा इंतेजार के साथ खुल ले और वो आपका वेबसाईट का कंटेन्ट का इस्तेमाल कर सके, तो ये बहुत ज्यादा मैटर करता है की आपका वेबसाईट कितना जल्दी लोगो के सामने खुल जाता है।

Blog Topic

इसका मतलब ये है की आपको हर दिन एक नया नया ब्लॉग का टॉपिक को सिलेक्ट करना होगा और उसपर काम करके उस आर्टिकल को अपने ब्लॉग वेबसाईट पर पब्लिश करना होगा, लेकिन लोगों के मन मे ये सवाल रहता है की आखिर हम अपना टॉपिक को कैसे ढूँढेंगे?

तो उसके लिए सबसे पहले आपको अपना ब्लॉग के Category के अनुसार जितना भी Blog है उनपर ध्यान देना है और जो जो वो ब्लॉग डाल रहे है उसके अकॉर्डिंग आप भी अपना ब्लॉग मे Post डाल सकते है और अगर आप चाहे तो Quora का उपयोग कर सकते है जहां पर लोग हमेशा सवाल जवाब करते रहते है।

Keyword Research

Blog को रैंक करने के लिए इसका सबसे ज्यादा जरूरी है क्योंकि अगर आप अपना ब्लॉग के लिए सही कीवर्ड को टारगेट नहीं करते है तो आपका ब्लॉग कभी रैंक नहीं करेगा और आपके ब्लॉग मे ट्राफिक नहीं आएगा, तो ऐसे मे अगर आपको अपना ब्लॉग को रैंक करना है तो सबसे पहले अच्छा कीवर्ड को ढूँढना चाहिए।

अच्छा कीवर्ड वो होता है जो कीवर्ड को सर्च वॉल्यूम ज्यादा हो और काम्पिटिशन कम के साथ साथ उसका सीपीसी ज्यादा हो जिससे की आप ज्यादा से ज्यादा कमा सको, तो सबसे पहले आप इस चीज को फॉलो कर सकते है और उसके बाद आप ब्लॉग लिखना शुरू कर सकते है।

Search Engine Optimization

इसका मतलब ये होता है की किसी भी सर्च इंजन पर रैंक करने के लिए जो भी सर्च इंजन का Requirement होता है उसका फॉलो करना और अपने ब्लॉग या वेबसाईट को उसके अकॉर्डिंग काम करना और अपना ब्लॉग को रैंक करवा लेना ही सर्च इंजन आप्टमज़ैशन कहलाता है।

हर सर्च इंजन का अलग अलग रिक्वाइर्मन्ट होता है तो सबसे पहले इसके बारे मे आपको जानना चाहिए क्योंकि ये अगर सही से हो जाएगा तो आपके ब्लॉग मे आसानी से ट्राफिक आएगा और लोग आपका कन्वर्शन बनेंगे लेकिन वही अगर ऐसा नहीं होता है तो उसमे दिक्कत होने लगता है।

Computer/ Laptop/ Mobile

इसका मतलब ये है की अगर आपके पास लैपटॉप, कम्प्यूटर और मोबाईल होगा तभी आप ब्लॉगिंग कर सकते है ऐसे ब्लॉगिंग नहीं कर सकते है, तो इस बात का आप ख्याल रखे और अगर आपके पास लैपटॉप या कंप्युटर है तो आपका काम तेजी से होगा क्योंकि मोबाईल मे ब्लॉगिंग करना थोड़ा Tough है।

लेकिन अगर आपके पास मोबाईल है और आप सोच रहे है की मोबाईल से ही ब्लॉगिंग करे तो वो भी आप कर सकते है।

Related Posts

Blogger Kya Hai?

Conclusions Of Blogging Kya Hota Hai?

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको आज का ब्लॉग पसंद आया होगा जो की ब्लॉगिंग क्या है? ( Blogging Kya Hai? ) या What Is Blogging In Hindi? से रिलेटेड है और अगर इससे रिलेटेड किसी तरह के मन मे डाउट हो तो नीचे कमेन्ट जरूर करे जिससे की आपका सवाल का जवाब जल्दी से मिल सके।

2 thoughts on “Blogging Kya Hai? Blogging Kaise Kare? – 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *